ट्रेंडिंग
रहाणे को वन-डे टीम से बाहर किये जाने पर आश्चर्यचकित है पूर्व कप्तान सौरव गांगुली, कह दी ये बड़ी बात
By Shubham - May 9, 2018 11:05 am
Views 0
Share Post

बीसीसीआई ने हाल ही में भारत के अफगानिस्तान के खिलाफ एक मात्र ऐतिहासिक टेस्ट मैच और इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया है. जिसमे टेस्ट मैच की कप्तानी विराट कोहली की अनुपस्तिथि में अजिंक्य रहाणे को दी गयी है. वही अगर बात वन-डे टीम की करे तो इस टीम से भारत के भरोसेमंद बल्लेबाज रहाणे को बाहर कर दिया गया है. जिससे भारत के पूर्व कप्तान सौरव गाँगुली(दादा) काफी आश्चर्यचकित है. बता दे की सेलेक्टर्स ने रहाणे की जगह वर्तमान में आईपीएल के 11वे सीजन में शानदार फॉर्म में चल रहे बल्लेबाज अंबति रायडू को मौका दिया है.

रहाणे के बाहर होने से दादा हुए नाराज 

 Ajinkya Rahane
Ajinkya Rahane (Pic source-google)

इस तरह रहाणे को टीम से बाहर निकाले जाने के बाद से दादा काफी नाराज दिखे. दादा ने इंडिया टुडे को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘रहाणे को अचानक वन-डे टीम से बाहर कर देना काफी बड़ा निश्चय है. मै अगर सेलेक्टर होता तो रायडू की जगह रहाणे को टीम में रखता क्योंकि रहाणे का पिछला इंग्लैंड दौरा काफी अच्छा रहा था. जहां गेंदे स्विंग होती है वहां पर रहाणे काफी शानदार बल्लेबाजी करते है. ऐसे में उनके वन-डे टीम से बाहर होने से मैं काफी परेशान हूँ.”

इस कारण मिला रायडू को मौका 

Ambati-rayudu
Ambati-rayudu (Pic source-google)

बता दे की अंबति रायडू आइपीईल-11 में कातिलाना अंदाज से बल्लेबाजी कर रहे है. इस दौरान उन्होंने 10 मैचो में  42.30 की खतरनाक औसत से 423 रन बना चुके है. जिसके दम पर  2 साल बाद एक बार फिर टीम इंडिया ने उनके लिए दरवाजे खोले है.

रहाणे का ओवरऑल वन-डे औसत नहीं है कुछ ख़ास 

Ajinkya Rahane
Ajinkya Rahane (Pic source-google)

वही बात अगर रहाणे के वन-डे कैरियर की करे तो 90 मैच खेलकर रहाणे ने 35.26 की औसत से 2962 रन बनाये है. जबकि पिछले दौरे साउथ अफ्रीका में 6 मैचो में रहाणे ने सिर्फ 140 रन बनाये थे. जिसमे उनकी 79 रनों की सर्वोच्च पारी रही. 

ये आकडे बया करते दादा का सही है आकलन

sourav ganguly
sourav ganguly (Pic source-google)

ऐसे में लेकिन अगर रहाणे के पिछले एक साल के आकड़ों की बात करी जाए तो दादा अपनी जगह पर बिल्कुल सही सोच रहे है. 29 वर्षीय इस भरोसेमंद बल्लेबाज ने पिछले एक साल में 17 एकदिवसीय मैच खेले है. जिनमे रहाणे ने 48.33 की औसत से 725 रन बनाये है. इसमें रहाणे की एक वेस्ट इंडीज के खिलाफ शतकीय पारी भी शामिल है. रहाणे का पिछला एक साल ठीक-ठाक रहने के बाद भी अक्सर वो टीम से अंदर और बाहर होते रहे है. जिसके चलते उनकी बल्लेबाजी में आत्मविश्वास की भी कमी नज़र आती है. जहां कप्तान कोहली ने पिछले एक साल में 29 वन-डे मैच खेले वही रहाणे को सिर्फ 17 मैच ही खेलने को मिले है. ये भी एक कारण हो सकता है की रहाणे जैसा बल्लेबाज जिसका घर से बाहर ओवेरसीज दौरों पर रिकॉर्ड हमेशा अच्छा रहा है, बावजूद उन्हें टीम इंडिया में जगह नहीं मिली.