आईपीएल 2018
IPL 2018: गुरु धोनी के टीम से फिर हार गई शिष्य विराट की टीम, चेन्नई की 6 विकेट से जीत
By Cricshots Team - May 5, 2018 1:59 pm
Views 0
Share Post
Suresh Raina, Ambati Rayudu of CSK
Suresh Raina, Ambati Rayudu of CSK

आईपीएल 11 में शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के बीच खेले गए दिन के पहले मुकाबले में धोनी की टीम ने6 विकेट से आसान जीत दर्ज की। आरसीबी द्वारा दिए गए 128 रनों के आसान लक्ष्य को चेन्नई ने अपने सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज अंबाती रायडू के 32 रन, सुरेश रैना के 25 रन और महेंद्र सिंह धोनी की 31 रन की पारी के दमपर दो ओवर पहले ही आसानी से जीत ली। आरसीबी के खिलाड़ी बल्लेबाजी के बाद गेंदबाजी में भी बेअसर दिखे और उमेश यादव,मुरुगन अश्विन को छोड़कर कोई भी गेंदबाज विकेट हासिल करने में सफल नहीं हो पाए।

चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से पारी की शुरुआत की शेन वॉटसन और अंबाती रायडू ने। चेन्नई को 18 रन के कुल योग पहला झटका शेन वॉटसन के रूप में लगा। शेन वॉटसन को 11 रन के निजी स्कोर पर उमेश यादव ने बोल्ड किया। इसके बाद क्सुरीज पर आए आईपीएल के सबसे माने वाले बल्लेबाज सुरेश रैना। रैना ने अंबाती के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन 25 रन बनाकर आउट हुए। उमेश की गेंद पर टिम साउदी ने बाउंड्री पर रैना का शानदार कैच लपका। चेन्नई को तीसरा झटका अंबाती रायडू के रुप में लगा जिन्हें मुरुगन अश्विन ने आउट किया। अंबाती रायडू ने 32 रन की पारी में 25 गेंदों का सामना करते हुए 3 चौके और 2 छक्के लगाए। इस पारी के दौरान रायुडू ने मौजूदा सीजन में 400 रन के आंकड़े को पार करने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए। इसके बाद आईपीएल में डेब्यू कर रहे युवा खिलाड़ी ध्रुव शोरी 8 रन बनाकर आउट हुए।तीसरा विकेट अंबाती रायडू का रहा, जिन्होंने 32 रन बनाए।

आखिरी में क्रीज पर मौजूद थे आईपीएल को दजो मैच फिनिशर यानी की महेंद्र सिंह धोनी और ड्वेन ब्रावो। महेंद्र सिंह धोनी ने 31 रन की नाबाद पारी खेली और ड्वेन ब्रावो 17 रन पर नाबाद रहे। इससे पहले चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल (53) की फिफ्टी और टिम साउदी (36*) की पारी की बदौलत बैंगलोर ने 9 विकेट पर 127 रन बनाए। बैंगलोर टीम का शीर्ष क्रम एक बार फिर फ्लॉप साबित हुआ और उसके 3 स्टार बल्लेबाज सस्ते में पविलियन लौट गए। पार्थिव पटेल और साउदी के अलावा अन्य कोई बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका।