ट्रेंडिंग
विराट कोहली ने पॉली उमरीगर अवार्ड लेते ही अपनी पत्नी अनुष्का के लिए कही बड़ी बात
By Shubham - Jun 13, 2018 7:34 am
Views 3
Share Post

भारतीय क्रिकेट टीम के होनहार कप्तान विराट कोहली को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड( बीसीसीआई ) के वार्षिक अवार्ड कार्यक्रम में में पॉली उमरीगर ट्राफी से सम्मानित किया गया. कोहली को 2016-17 और 2017-18 में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहने के कारण अवार्ड दिया गया. कोहली ने 2016-17 सीजन के 13 टेस्ट मैचों में 74 की औसत से 1332 रन बनाए थे. वही सीमित ओवरों में कोहली ने 27 मैचों में 1516 रन बनाए. इस दौरान उनका औसत 84.22 रहा.

बीसीसीआई ने ट्वीट किया, ” 2016-17 सीजन का पॉली उमरीगर अवार्ड भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को दिया जाता है. नमन.” एक और ट्वीट में कहा गया, “कप्तान को 2017-18 सीजन का भी पॉली उमरीगर अवार्ड दिया जाता है.”

virat kohli and ravi shahstri
virat kohli and ravi shahstri ( pic source-google )

बेंगलुरू में हुए इस भव्य अवार्ड समारोह में विराट कोहली खुद ये अवार्ड लेने पहुंचे. इस मौके पर उनके साथ उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा भी मौजूद रहीं. विराट ने कोच रवि शास्त्री के हाथों ये अवार्ड रिसीव किया. अवार्ड लेने के बाद कप्तान ने ऐसी बात कह दी की शाम में चार चाँद लग गये.

virat kohli
virat kohli ( pic source-google )

विराट ने अवार्ड लेने के बाद अनुष्का की शान में कहा, ‘आज इस अवॉर्ड की अहमियत और ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि आज मेरी पत्नी यहां मौजूद हैं.’

और पढ़िए:- धोनी के कारण कार्तिक को 8 साल इंतज़ार करना पड़ा, फिर भी करते है सम्मान

विराट के अलावा स्मृति मंधाना को 2017-18 की सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी चुना गया. हरमनप्रीत कौर को 2016-17 सीजन की सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट महिला खिलाड़ी चुना गया.

घरेलू क्रिकेट में अच्छा करने वाले खिलाड़ियों को भी अवार्ड दिए गए इनमें जलज सक्सेना, परवेज रसूल, क्रूणाल पांड्या के नाम शामिल हैं.

जलज और रसूल को रणजी ट्रॉफी में सर्वश्रेष्ठ हरफनमौला खिलाड़ियों के पुरस्कार से नवाजा गया. वहीं हार्दिक पंड्या के बड़े भाई क्रूणाल पांड्या को विजय हजारे ट्रॉफी में सर्वश्रेष्ठ हरफनमौला खिलाड़ी चुना गया.

इतना ही नहीं ही नहीं इस ख़ास मौके में लेक्चर देने के लिए इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी केविन पिटरसन भी मौजूद थे. जो पहले ऐसे गैर भारतीय खिलाड़ी बने जिन्होंने इस तरह के बीसीसीआई के अवार्ड समारोह में संबोधित किया.