इतिहास के पन्नों से
भारत की टेस्ट क्रिकेट में बादशाहत को चुनौती देगा अफगानियो का ये चक्रव्युह, जिसे भेदना होगा मुशकिल
By Shubham - Jun 1, 2018 11:16 am
Views 7
Share Post

अफगानिस्तान में क्रिकेट भी खेला जाता है ? इस प्रश्न का जवाब शायद आज से 2 या 3 साल पहले किसी के पास नही था. मगर आज के दिन में भारत का बच्चा-बच्चा जानता है की अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम में राशिद खान जैसा शानदार लेग स्पिनर शामिल है. जिसने विश्व पटल पर अपनी अमिट छाप छोड़ी है. ऐसे में अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट को फर्श से अर्श में ले जाने पर अगर भारत का बहुत बड़ा योगदान कहेंगे तो गलत नहीं होगा क्योंकि भारत ने ही अफगानिस्तान क्रिकेट में चार चाँद लगाये है. कहने में थोडा अजीब लग रहा होगा. मगर ये सच है.

भारत की देंन है अफगान क्रिकेट 

afghanistan
afghanistan

भारत और अफगानिस्तान के बीच जबसे राजनीतिक संबंधो में सुधार हुए है तबसे भारत सरकार ने अफगान क्रिकेट का जिम्मा अपने कंधो उठा लिया है. जिसके चलते भारत ने अफगानिस्तान को पहले नॉएडा क्रिकेट स्टेडियम में क्रिकेट के गुर नजदीकियों से सीखने की अनुमति दी. उसके ठीक एक साल बाद अब अफगानिस्तान को देहरादून में एक नया इंटरनेशनल स्टेडियम बनाकर उपहार स्वरूप दे दिया है. जिसे अफगानिस्तान का घरेलू मैदान बना दिया गया है. जहां पर वो अगले हफ्ते बांग्लादेश के साथ तीन टी-20 मैचो की सीरीज की मेजबानी करेगा. ऐसे में भारत इस देश के क्रिकेट के विकास की ओर एक हाथ से ताली बजाता चला जा रहा है. जिसके बाद अब अफगानिस्तान भारत के खिलाफ ही एक चक्रव्युह की रचना कर रहा है. जिसे भेदना भारत के लिए मुश्किल साबित हो सकता है.

जानिये क्या है चक्रव्युह 

जी हाँ जून महीने की 14 तारीख को अफगानिस्तान, भारत के खिलाफ अपना पहला ऐतिहासिक टेस्ट मैच खेलेगा. जिसके लिए उसने अपनी 16 सदस्यी टीम का ऐलान कर दिया है. इस टीम की सबसे ख़ास बात ये है की इसमें अफगानिस्तान टीम मैनेजमेंट ने भारत के बल्लेबाजो के लिए 4 स्पिनर को शामिल किया है. जिस स्पिन दल का नेतृत्व अफगानिस्तान के स्टार लेग स्पिनर राशिद खान करेंगे. इसमें राशिद के साथ मुजीबुर रहमान, आमिर हमजा और जहीर खान शामिल हैं.  इस तरह अफगानिस्तान ने इस टेस्ट मैच को जीतने के लिए पूरी कमर कस ली है.

जैसा की हम सभी जानते है आज से पहले भी जब-जब कोई विदेशी टीम भारत खेलने आयी है तो उनके स्पिनरों ने कमाल मचाया है. फिर चाहे उस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया के नाथन लयोन, इंग्लैंड के मोंटी पनेसर, ग्रीम स्वान और श्री लंका के दिग्गज मुरलीधरन ही क्यों न हो. इन सभी ने भारत आ कर अपने दम पर टीम को मैच जीताया है. जिसके चलते अफगानिस्तान ने स्पिनरों की अपनी पूरी टीम तैयार कर ली है. जो की नहीं अगर पूरा मैच तो एक-आधे सेसन में भारतीय टीम को जरूर बैकफूट पर धकेलने का काम करेगी.

Rashid Khan, star player of Sunrisers Hydrabad
Rashid Khan, star player of Sunrisers Hydrabad

ऐसे में पहला टेस्ट मैच बेंगलुरु में होगा. जहां की पिच हालांकि बल्लेबाजी के लिए स्वर्ग मानी जाती है. लेकिन मैच के तीसरे दिन के बाद ये पिच बुरी तरह से उजड़ जायेगी. जिसके बाद स्पिन गेंदबाजी खेलना काफी मुश्किल हो जाएगा. इस समय अफगान टीम का ये चक्रव्युह अपना कमाल दिखा मैच को जीता सकता है.

हालांकि की इस चार में से 2 स्पिन गेंदबाज राशिद और मुजीब ने तो अपना कमाल आईपीएल के 11वें सीजन में दिखा ही दिया है. राशिद ने जहाँ सनराईजर्स हैदराबाद की तरफ से 17 मैचों में 6.73 की इकॉनमी से 21 विकेट लिए. वही दूसरी ओर मुजीब ने किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से 11 मैच खेले और 6.99 के सस्ते इकॉनमी से 14 विकेट झटके. तीसरे स्पिनर जहीर खान को ऊँगली में चोट आ जाने के कारण पूरे आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की टीम से बाहर रहना पड़ा था. चौथे आमिर हमजा भी अफगानिस्तान के घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने घरेलू सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लिए हैं.

इस तरह अफगानिस्तान के इन चारो गेंदबाजों ने ऐतिहासिक टेस्ट के लिए अपने चक्रव्युह की रचना तैयार कर ली है. जिसको भेदने के लिए भारत के कप्तान विराट कोहली भी इस मैच में शामिल नहीं होंगे. ऐसे में कोई दोहराए नहीं है की अफगानिस्तान इस पहले टेस्ट मैच को जीत कर वाकई अपने लिए ऐतिहासिक बना ले और दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम सिर्फ देखती रह जाए की कैसे भारत में ही रह कर क्रिकेट सीखने वाले अफगान क्रिकेटरो ने उनकी बादशाहत पर सवाल उठा दिए.