न्यूज़
युजवेंद्र चहल की इंग्लैण्ड और आयरलैंड को चेतावनी, मेरे पास है दो तरह की गुगली
By Shubham - Jun 27, 2018 9:34 am
Views 2
Share Post

यु.के दौरे पर गयी भारतीय टीम बिल्कुल निडर नजर आ रही है. जिसके चलते अपनी कलाई से दुनिया के गेंदबाजों को नचाने वाले स्पिनर यजुवेंद्र चहल ने अपनी ताकत के बारे में एक खुलासा किया है. चहल ने मैच से पहले हुई प्रेस वार्ता में बताया की उन्होंने दो तरह की गुगली इजात की है. जिससे वो इंग्लैण्ड में धमाल मचाने वाले है.

चहल ने कहा, ‘‘मेरे पास दो तरह की गुगली, एक सिर के करीब से जाती है और दूसरी में बाजू थोड़ी दूर से जाती है. इसलिये मैं इसका मिलाजुला कर इस्तेमाल करने की कोशिश करता हूं. बल्लेबाजों को अपने सिर की पो जीशन देखनी पड़ती है इसलिये मेरे लिये यह फायदेमंद होता है.’’

लेग स्पिनर है ज्यादा घातक

उन्होंने कहा, ‘‘उदाहरण के तौर पर, बायें हाथ के स्पिनर के पास केवल दो तरह की वैरिएशन होती है लेकिन लेग स्पिनर के पास कम से कम चार तरह की वैरिएशन होती है इसलिये बल्लेबाज हमेशा यह सोचता रहता है कि उसे अगली बार किस तरह की गेंद का सामना करना होगा.’

कलाई से धमाल मचाने को तैयार

Yajuvendera chahal
Yajuvendera chahal ( pic source-google )

 इसके बाद चहल ने कलाई के स्पिनरों( जो की वो खुद भी है ) की तारीफ करते हुए कहा,”‘हाल में कलाई के स्पिनरों को अच्छी सफलता मिल रही है लेकिन ऐसा नहीं है कि आप कलाई के स्पिन से आप जीत दर्ज नहीं कर सकते. लेकिन मुझे लगता है कि यहां (आयरलैंड और इंग्लैंड) के हालात से स्पिनरों को मदद मिलेगी. इंग्लैंड के स्पिनरों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में विकेट झटके थे जो हमारे लिये प्रेरणादायी होगा. इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ज्यादा से ज्यादा का स्कोर खड़ा किया , हमारे खिलाफ नहीं.’’

और पढ़िए:- मैदान पर उतरे ही टी-20 में टीम इंडिया बना देगी शतक, कोहली रच सकते है इतिहास

गर्म मौसम ही चाहते है चहल 

ऐसे में अपने पहले आयरलैंड दौरे के बारे में बात करते हुए चहल ने कहा, ‘‘हमारे लिये हर दौरा अहम है लेकिन मेरे लिये यह काफी विशेष है क्योंकि यहां मैं पहली बार आया हूं. मैंने लंदन में नेट पर गेंदबाजी की और मौसम गर्म था, बिलकुल ऐसा ही था जैसा उप-महाद्वीप में होता है.’’

चहल ने कहा, ‘‘मैं आशा करता हूं कि मौसम ऐसा ही रहे और मैं ऐसे ही गर्म दिनों की उम्मीद लगाये हूं. मुझे पहले टी 20 या फिर किसी में भी खेलने का मौका मिलता है, मैं उसका लुत्फ उठाऊंगा.’’