ट्रेंडिंग
अपने डेब्यू मैच में दबाव के कारण रनअप लेना भूल गये थे सिद्धार्थ, किया खुलासा
By Shubham - Jun 30, 2018 11:50 am
Views 2
Share Post

भारतीय टीम ने अपने यु.के दौरे पर टी-20 की सबसे बड़ी जीत दर्ज की. जिसके चलते टीम ने आयरलैंड का दो मैचो की सीरीज में सूपड़ा साफ़ कर दिया. आखिरी मैच को भारत ने 143 रनों के बड़े अंतर से अपने नाम किया. जो की भारत की अब तको सबसे बड़ी टी-20 जीत कहलायी.

भारतीय टीम दूसरे टी-20 मैच में चार बदलाव के साथ मैदान में उतरी. जिसमे पहले मैच में अर्द्धशतकीय पारी खेलने वाले शिखर धवन, महेन्द्र सिंह धोनी, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया गया जबकि टीम में लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक, सिद्धार्थ कौल और उमेश यादव को जगह मिली थी.

टी-20 टीम में उमेष यादव की 6 साल बाद वापसी वहीं सिद्धार्थ कौल ने भारतीय टी-20 में डेब्यू किया. सिद्धार्थ कौल,विराट कोहली की कप्तानी वाली साल 2008 के अंडर-19 वर्ल्डकप टीम का भी हिस्सा थे.

विराट कोहली ने सीनियर टीम में अपनी जगह जल्द ही बना ली लेकिन सिद्धार्थ कौल को 10 साल बाद भारतीय टीम में खेलने का मौका मिला. सिद्धार्थ को पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टी-20 कैप पहनाया. आयरलैंड के खिलाफ अपने पहले मैच में सिद्धार्थ ने दो ओवर गेंदबाजी की. इस दौरान सिद्धार्थ ने 4 रन खर्च कर एक विकेट अपने नाम किया.

मैच खत्म होने के बाद टीम के सीनियर तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने उनका बीसीसीआई टीवी के लिए उनका इंटरव्यू लिया. भुवी ने सिद्धार्थ से उनके पहले मैच के अनुभव के बारे में पुछा.

सिद्धार्थ ने बताया कि जब उन्हें कोच रवि शास्त्री ने दूसरे टी-20 मैच में खेलने की जानकारी तो वे बहुत उत्साहित हुए लेकिन उन्हें घबराहट भी हो रही थी. सिद्धार्थ ने बताया कि मैच से पहले वो बहुत घबराये हुए थे. आईपीएल में खेलना एक अलग बात लेकिन जब आप देश के लिए सबसे बड़ी जर्सी पहनते तो आपके अंदर घबराहट होना लाजमी है.

और पढ़िए:- ऑस्ट्रेलिया बोर्ड ने इस खिलाड़ी को नहीं दी कनाड़ा में टी-20 लीग खेलने की इजाजत

उन्होंने बताया कि जब वे मैदान पर गेंदबाजी करने आए तो एक समय वो बॉलिंग रनअप को भूल गए थे लेकिन पहली गेंद फेंकने के बाद सब नॉर्मल हो गया.

आपको बता दें कि सिद्धार्थ और भुवी आईपीएल में एक ही टीम के लिए खेलते हैं. सिद्धार्थ ने भूवी के साथ मिलकर आईपीएल के 11वें सीजन में 21 विकेट झटके थे. सिद्धार्थ टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में तीसरे नंबर पर थे. उनके इसी प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें टीम इंडिया के इंग्लैण्ड दौरे के लिए चुना गया था.