ट्रेंडिंग
यो-यो टेस्ट के मामले पर गरजे पूर्व क्रिकेटर संदीप पाटिल, बर्बाद कर रहा है खिलाड़ियों का कैरियर
By Shubham - Jun 22, 2018 7:38 am
Views 3
Share Post

दुनिया की सबसे बड़ी रंगारंग टी-20 लीग आईपीएल खेलने एक बाद अब सभी भारतीय खिलाड़ी एक साथ मिलकर अंतराष्ट्रीय मैच खेलने को तैयार है. हांल ही में हुए अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट मैच को सिर्फ दो दिन में खत्म करने के बाद टीम आत्मविश्वास से लबरेज है. जिसके चलते पूरी टीम अब होश और जोश दोनों के साथ कल ब्रिटेन दौरे के लिए रवाना होगी.

ऐसे में इंग्लैण्ड जाने से पहले भारतीय टीम को दो बड़े झटके लगे है. जिसके पीछे का कारण खिलाड़ियों का यो-यो फिटनेस टेस्ट पास ना कर पाना है. भारत के दो प्रमुख खिलाड़ी तेज़ गेंदबाज मोहम्मद शमी और अंबाती रायडू इस टेस्ट को पास करने में नाकाम रहे जिसके चलते उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया है. वही भारत के हिटमैन ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा ने बड़ी मुसीबतों से इसे पास किया.  

Sandeep Patil
Sandeep Patil ( pic source-google )

जिसके बाद टीम इंडिया के पूर्व सलेक्टर और क्रिकेटर संदीप पाटिल ने यो-यो टेस्ट और खिलाड़ियों की फिटनेस को लेकर एक बात कही है. उन्होंने यो-यो टेस्ट के जरिए होने वाली चयन प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि इससे भारतीय खिलाड़ियों के कैरियर के साथ खिलवाड़ हो रहा है.

और पढ़िए:- इंग्लैण्ड दौरे पर जाने से पहले है कोहली, रैना और धोनी समेत खिलाड़ियों को सैलरी का इंतज़ार

पाटिल ने ‘मिड-डे’ अखबार से बातचीत में कहा, ‘मैं खिलाड़ी की फिटनेस के मापदंड के खिलाफ नहीं हूं लेकिन मुझे ये तरीका बेतुका लगता है कि टीम में चुने जाने के बाद अगर कोई खिलाड़ी यो-यो टेस्ट फेल कर जाए तो उसे टीम से बाहर कर दिया जाता है. इससे ना सिर्फ खिलाड़ी के कैरियर के साथ खिलवाड़ हो रहा है बल्कि टीम का संतुलन भी बिगड़ता है.’

आपको बता दे की पिछले कुछ सालों से बीसीसीआई ने यो-यो टेस्ट को टीम में चयन का मानक आधार बना दिया है. जिसको पास करने के बाद ही आप टीम इंडिया के लिए खेल सकते है.

हाल ही में इंग्लैण्ड दौरे से पहले बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट ऐकैडमी में हुए यो-यो टेस्ट में टीम इंडिया के दो खिलाड़ी फेल हो गए. जिसके बाद उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है.