ट्रेंडिंग
इंग्लैण्ड के हाथो बुरी तरह हारने के बाद कप्तान टीम पेन का बढ़ा दर्द, छीन सकती है कप्तानी
By Shubham - Jun 27, 2018 11:03 am
Views 1
Share Post

एक समय पर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का नाम सुनते ही विरोधी टीम का मनोबल गिर जाता था और वह हार मान लेती थी. आज इसी ऑस्ट्रेलिया टीम का हाल ऐसा है की कोई भी टीम ऑस्ट्रेलिया टीम को चैलेंज देने के लिए तैयार हो जाती है. हाल ही में अंग्रेजो की जमीन पर ऑस्ट्रेलिया ने 140 साल बाद की सबसे बड़ी हार झेली है.

Austrelia
Austrelia team ( pic source-google )

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में 5-0 से हारने के बाद टीम के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने बड़े बदलाव के संकेत दिए हैं. लैंगर ने विचार विमर्श के बाद 2019 वर्ल्डकप को ध्यान में रखते हुए टीम की कमान में संभावित बदलाव कर सकते हैं.

मौजूदा कप्तान टिम पेन अबतक सफल नेतृत्व करने में पूरी तरह से नाकाम रहे हैं. ऐसे में टिम पेन को कप्तानी से हटाकर किसी दूसरे खिलाड़ी कप्तान बनाया जा सकता है. आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम इस साल इंग्लैंड में रिकॉर्ड 9 वनडे मैच हारी है. इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में मिली हार के बाद मुखु कोच लैंगर टीम का कप्तान बदलना चाहते है.

Justin Langer
Justin Langer ( pic osurce-google )

हालांकि दूसरी तरफ लैंगर का मानना है कि साउथ अफ्रीका में बॉल टेम्परिंग विवाद के दौरान पेन ने बखुबी टीम को संभाला जो काबिले तारीफ है लेकिन हमें उन चिजों से निकलकर आगे की योजनाओं पर काम करना है और इसके लिए हमें टीम में संभावित बदलाव करना पड़े तो हम करेंगे.

और पढ़िए:- 39 साल की उम्र में भी माँ के हाथो से बोतल द्वारा दूध पीते है वीरेंद्र सहवाग

गौरतलब है की साउथ अफ्रीका में बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद से ही ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के बुरे दिन शुरू हो गये थे. जो की खत्म होने का नाम नहीं ले रहे है. इस बॉल टेम्परिंग विवाद के कारण टीम के नियमित कप्तान स्टीव स्मिथ और उपकप्तान डेविड वॉर्नर को एक-एक साल के लिए बैन किया गया है. वहीं युवा ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्राफ्ट को 9 महीने की सजा मिली है. इतना ही नहीं डेविड वॉर्नर पर तो आजीवन ऑस्ट्रेलिया के नेशनल और किसी भी घरेलू टीम के कप्तान बनने पर रोक लगा दी गई है. जबकि पूर्व कप्तान सटीक स्मिथ अगले दो साल तक टीम की कप्तानी नहीं कर सकते है. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया टीम को जल्द ही कोई नया कप्तान ढूँढ़ कर विश्व कप के लिए एक स्थिर टीम तैयार करनी होगी.