आईपीएल 2018
ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने कहा रहाणे और गंभीर को सीखना चाहिए केन विलियम्सन से कैसे होती है बल्लेबाजी
By Shubham - May 20, 2018 1:09 pm
Views 0
Share Post

अक्ल बड़ी की भैंस मुहावरे में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने यह साबित कर दिया की अगर आपमें अक्ल है तो आप टी-20 जैसे फटाफट क्रिकेट में भी ताकतवर बल्लेबाजो से ज्यादा रन बना सकते है. तकनीकी रूप से पूरी तरह सक्षम बल्लेबाज केन ने बड़ी चतुराई से तकनीकी के साथ इस छोटे फॉर्मेट में जमकर रन बनाये है. जिसके बाद इनकी बल्लेबाजी से प्रभावित होकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोन्स ने भारत के स्टार ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर और अजिंक्य रहाणे को उनसे कुछ सीख लेने को कहा है.

Dean Jones
Dean Jones (pic source-google)

जोन्स से पीटीआई से कहा, ‘मुझे उम्मीद थी कि विलियमसन अच्छा करेंगे. डेविड वॉर्नर के यहां नहीं खेलने से उन्हें काफी फायदा हुआ है. यह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ टी-20 लीग है. विलियमसन को जो मौका मिला उन्होंने उसका पूरा फायदा उठाया और दुनिया को दिखा दिया कि वे कितने शानदार खिलाड़ी हैं.’

जोन्स ने आगे कहा, ‘आपके पास गंभीर और रहाणे जैसे दूसरे खिलाड़ी भी हैं जो उसी परंपरागत शैली में बल्लेबाजी करते हैं. उन्हें विलियमसन का अनुसरण करना चाहिए कि वह कैसे 130-140 के स्ट्राइक रेट तक पहुंच रहे है.’

ऑस्ट्रेलिया के लिए 52 टेस्ट और 164 वनडे मैच खेलने वाले इस अनुभवी बल्लेबाज ने कहा, ‘अगर आप ऐसा कह रहे कि विलियमसन (13 मैचों में 625 रन) रहाणे और गंभीर से बेहतर है तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. लेकिन तथ्य यह है कि उन्होंने (विलियमसन) ने ज्यादा खुलकर बल्लेबाजी की है. वह शॉट लगाने से पहले परंपरागत स्थिति में आ जाते है. उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है और यह साबित किया कि टी-20 में भी परंपरागत बल्लेबाज मतलब की अक्ल के साथ तकनीकी वाले बल्लेबाजो की भी जगह है.’

वही केन के शानदार बल्लेबाजी के दम पर उनकी टीम इसबार आईपीएल 11 में अंकतालिका में टॉप पर चल रही है. जबकि दूसरी ओर गौतम गंभीर ने अपनी खराब फॉर्म के कारण दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी बीच आईपीएल में ही छोड़ दी थी. जबकि रहाणे अपनी टीम को गिरते-पड़ते प्लेऑफ के दरवाजे तक ले आये है. ऐसे में अगर आज मुंबई जीत जाती है तो रहाणे की टीम भी आईपीएल 11 से बाहर हो जाएगी.