ट्रेंडिंग
अफगानिस्तान के बाद अब भारत ने आयरलैंड के खिलाफ दर्ज की सबसे बड़ी जीत
By Shubham - Jun 30, 2018 6:33 am
Views 0
Share Post

भारतीय टीम ने हाल ही में अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट  मैच में ऐतिहासिक सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी. जिसके बाद अब टीम इंडिया ने टी-20 में भी अब तक की सबसे बड़ी ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. तीन माह के लम्बे दौरे पर गयी टीम इंडिया ने आयरलैंड को लगातार दूसरे टी-20 में एकतरफा अंदाज में हराकर धूल चटा दी है. इस मैच को भारतीय टीम ने रिकॉर्ड 143 रन से जीता.

भारत ने खड़ा किया विशाल स्कोर 

Suresh Raina
Suresh Raina ( pic source-google )

मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करना एक बार फिर से आयरलैंड को भरी पड़ा. टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करने मैदान में उतरी. जिसमे ओपनर केएल राहुल (70) और सुरेश रैना (69) की अर्धशतकीय पारी और आखिरी के छड़ों में हार्दिक पंड्या की तेज़तर्रार 9 गेंदों में 32 रन की पारी के बदौलत भारत ने पहले खेलते हुए 20 ओवर में विशाल 213 रनों का लक्ष्य हासिल किया.

आयरलैंड हुई धडाम 

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की टीम भारतीय गेंदबाजों एक सामने एक पल के लिए भी नहीं टिक पायी. जिसके चलते उनके बल्लेबाज आये राम और गये राम की तरह आउट होते चले गये. एक बार फिर से कलाई के स्पिनरों ने अपना जलवा दिखाया. कुलदीप यादव और यजुवेंद्र चहल ने मिलकर 10 में से 6 विकेट निकाले. जिसके चलते आयरलैंड महज 70 रन ही बना पायी और 143 के बड़े अंतर से हार गयी. इसी के साथ भारत ने सबसे बड़ी जीत दर्ज की. इससे पहले भारत ने 2017 में श्रीलंका को कटक में 93 रन से करारी शिकस्त दी थी.

मैन ऑफ द मैच राहुल और रैना के बीच 106 रनों की साझेदारी हुई. जबकि मैन ऑफ़ द सीरीज का ख़िताब यजुवेंद्र चहल को दिया गया. चहल ने इस मैच में भी 3 विकेट लिए. इस तरह आयरलैंड के खिलाफ दो मैचो की टी-20 सीरीज में चहल ने कुल 6 विकेट लिए.

और पढ़िए:- भारत के खिलाफ अंग्रेजो की टीम का हुआ ऐलान, इस खिलाड़ी की हुई वापसी

सिद्धार्थ कौल को मिला ईनाम 

Siddhartha Kaul
Siddhartha Kaul ( pic source-google )

इसी मैच में आईपीएल के 11वें सीजन में अपनी गेंदबाजी से धमाल मचाने वाले सिद्धार्थ कौल को भी उनका ईनाम मिला. सिद्धार्थ ने अपना अन्तराष्ट्रीय टी-20 डेब्यू किया. जिसके चलते उन्होंने अपने पहले मैच में आयरलैंड के सलामी बल्लेबाज जेम्स शेनन (02) को राहुल के हाथों कैच करा कर इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना पहला विकेट लिया.